विदेशी मुद्रा क्यू एंड ए

NFT क्या है?

NFT क्या है?
NFT in Hindi

NFT [एनएफटी] क्या है? पैसा कमाने का नया तरीका कैसे बन गया है NFT?

NFT [एनएफटी] क्या है? पैसा कमाने का नया तरीका कैसे बन गया है NFT? What is "NFT" in Hindi

दुनिया बदलने के साथ-साथ आज के वक्त में पैसा कमाने या बिजनेस की भाषा में कहा जाए तो इन्वेस्टमेंट करने के तरीकों में काफी बदलाव आ गया है। इसी नए इजाद ने एक ऐसे शब्द को जन्म दे दिया है। जिसे बिजनेस मार्केट में आजकल NFT [एनएफटी] कहा जाता है।

NFT को लेकर आज दुनिया के काफी औद्योगिक घरानों की हस्तियों से लेकर इंडिया के बॉलीवुड स्टार सलमान खान, अमिताभ बच्चन और तमाम क्रिकेट खिलाड़ी लालायित हैं।

आखिर (एनएफटी) NFT क्या है? NFT का क्या अर्थ है? [एनएफटी] NFT कैसे काम करता है? किस तरह से भारत समेत पूरी दुनिया भर में अपनी जगह बना रहा है? और विश्व में इसका क्या भविष्य होगा?

आपके लिए यह सब कुछ जानना बहुत ही जरूरी है।

NFT का क्या मतलब है? What does NFT mean in Hindi?

NFT का अर्थ है, "नॉन फंजीवल टोकन" [NON FUNGIBLE TOKEN] यह एक प्रकार की डिजिटल असेट यानी धरोहर है। इसे ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी के जरिए संभाला जाता है। इस टेक्निक की सहायता से जीआईएफ [GIF], वीडियो क्लिप्स [VIDEO CLIPS] तस्वीरें, पेंटिंग और अन्य कीमती डिजिटल संपत्तियों का मालिकाना हक तय किया जाता है। यह सारी चीजें आज के वक्त में डिजिटल असेट में आती है। इसकी खरीददारी और बिक्री डिजिटल रूप में होती है।

एनएफटी को और अच्छी तरह से समझने के लिए हम इसे "नीलामी" की तरह समझ सकते हैं। मान लो कोई ऐसी चीज या फिर आर्ट वर्क की दुनिया भर में दूसरी कॉपी नहीं है। उसे लोग NFT करके पैसे कमा सकते हैं। आप जब ऑनलाइन एनएफटी में GIF, VIDEO CLIPS या कोई PAINTING वगैरा खरीदते हैं, तो यह सभी चीजें आपको फिजिकल रूप में नहीं मिलती। इसके बजाय आपको एक प्रकार का यूनिक टोकन दिया जाता है। जिस टोकन को (NFT Token) टोकन कहा जाता है।

अगर आपके पास यह टोकन है, तो आप इन सभी डिजिटल सामग्रियों असेट के मालिक बन जाते हैं। मतलब कि आपके पास एक प्रकार की डिजिटल ओनरशिप आती है। इसके पश्चात आप इन्हें अपने फायदे या नुकसान के हिसाब से बेच या खरीद सकते हैं। आमतौर पर एनएफटी क्रिप्टोकरंसी के माध्यम से ही की जाती है। मतलब कि अगर आप कुछ एनएफटी करना चाहते हैं, तो उसके लिए आप जो ट्रांजैक्शन करोगे वह क्रिप्टोकरंसी के जरिए ही होगी।

एनएफटी का प्रयोग डिजिटली मौजूद चीजों के लिए और डिजिटल आर्ट के लिए हो रहा है। फंजिबल का मतलब है, कि दो वस्तुओं का आपस में इंटरचेंजेबल। जैसे कि ₹500 का नोट। एक डिजिटल आर्ट की काफी सारी कॉपियां बनाई जा सकती हैं और यह अनलिमिटेड भी हो सकती है। लेकिन एक आर्टिस्ट एनएफटी का प्रयोग करके एक कॉपी को ओरिजिनल करार भी दे सकता है। यही कारण है कि बीपल नामक आर्टिस्ट के कोलाज "Everydays-- The First 5000 Day's" की लाखों कॉपियों में से एक ओरिजिनल कॉपी 517 करोड रुपए में एक नीलामी के दौरान बिकी। नॉन फंजिबल को युनिक भी कह सकते हैं।

NFT कैसे होता है? How is NFT Done in Hindi?

एनएफटी यानी के नॉन फन्जीवल टोकन के मालिकाना हक या स्वामित्व के लिए एक ओनरशिप सर्टिफिकेट मिलता है। जब कोई व्यक्ति कोई आइटम, आर्ट, तस्वीर, वीडियो, कोई चीज या फिर gif वगैरह इस कैटेगरी में आते हैं। उन्हें उस आइटम से संबंधित सभी तरह के अधिकार ओनरशिप के सर्टिफिकेट के साथ ही उनके पास चले जाते हैं। विशेष बात यह है कि एनएफटी आ NFT क्या है? जाने के बाद अब कुछ वक्त से क्रिप्टो आर्ट ऑनलाइन गेमिंग आदि के लिए भी एनएफटी के टोकन का इस्तेमाल किया जा रहा है।

NFT में खरीद-फरोख्त कैसे होती है? How is trading done in NFTs in Hindi?

जैसा कि आप सभी जानते हैं, कि एनएफटी करने के लिए डिजिटल माध्यम ही एक जरिया है। इसलिए इसमें एक खास तरह की टेक्निक का प्रयोग किया जाता है। जिस तकनीक को ब्लॉकचेन टेक्निक कहा जाता है। आजकल इसमें भी एथिरियम ब्लॉकचेन का इस्तेमाल किया जा रहा है। जिसमें एक बार एंट्री करने के बाद उसके अंदर किसी प्रकार की छेड़छाड़ या किसी चीज को डिलीट नहीं किया जा सकता।

NFT TOKEN क्या है?What is "NFT TOKEN" in Hindi

एनएफटी टोकन यानी के यह यूनिक टोकन आपकी एक डिजिटल असेट है, जो वैल्यू को जनरेट करते हैं। मान लीजिए आपके पास 100रु के नोट को

50रु के दो नोटों में बांट या बदल सकते हैं और इसकी कीमत एक समान रहेगी। NFT क्या है? यह कोई पेंटिंग भी हो सकती है। मतलब आप अपनी डिजिटल संपति को टुकड़ों की तरह एनएफटी में बेच और खरीद सकते हैं।

NFT में "कमाई" कैसे होती है? How is "Earning" in NFTs in Hindi?

गेमिंग द्वारा:- डिजिटल गेमिंग के द्वारा इसमें सबसे ज्यादा कमाई की जा सकती है। इसको गेमिंग सेगमेंट में काफी अहम माना जाता है। लोग इसकी सहायता से काफी पैसा कमा रहे हैं। यदि आपके पास किसी तरह की वर्चुअल रेस ट्रेक है NFT क्या है? तो उसके बदले में दूसरे खिलाड़ी को प्रयोग करने के लिए पैसे देने होंगे।

निवेश की स्थिति:- एनएफटी में कमाई करने के लिए निवेशकों को काफी लंबे समय तक इंतजार करना पड़ सकता है। क्या पता मार्केट में किसी खास सिक्के की डिमांड हो और बेचने वाला आगे तैयार ही ना हो।

किसी भी देश के किसी खास म्युजियम के सिक्के की किमत या फिर समृति चिन्ह की किमत सामने वाले के लिए बहुत ज्यादा हो, लेकिन दूसरी साइड किसी और शख्स की नजर में उसकी कोई खास कीमत ना हो, तो इसी तरह के निवेश में अच्छा पैसा कमाने के लिए इंतजार करना एक अहम बात है।

ब्लाकचैन टेक्नोलॉजी कैसे काम करती है? How does "Blockchain Technology" work in Hindi?

ब्लॉकचेन टेक्निक 1 ऐसा प्लेटफॉर्म है, जहां ना केवल डिजिटल करेंसी बल्कि किसी भी चीज को आप डिजिटल बनाकर उसका रिकॉर्ड रख सकते हैं। मतलब के ब्लॉकचेन एक डिजिटल लेज़र है। वहीं पर बिटकॉइन एक डिजिटल माध्यम है, जिसके जरिए आप और हम या कोई अन्य, चीजें खरीद या बेच सकते हैं।

एनएफटी का इतिहास क्या है? What is the history of NFT in Hindi?

नॉट फंजिबल टोकन यानी एनएफटी को पहली बार मई 2014 में (Anil Dash) अनील दास और (Kevin McCoy) केविन मैककॉय द्वारा बनाया गया था। यह एथेरियम ब्लाकचैन टेक्निक के सिद्धांतों पर कार्य करता है। किसी तरह की कोई तकनीकी आर्ट, जिसके बारे में यह दावा किया जा रहा हो, कि वह एक यूनिक चीज है, और उस पर मालिकाना हक यानी के ऑनर्स राइट किसी एक व्यक्ति के पास ही है। इसी मालिकाना हक को एनएफटी या नॉन फंजिबल टोकन कहा गया है।

भारत में एनएफटी का क्या भविष्य है? What NFT क्या है? is the future of NFTs in India in Hindi?

एनएफटी के फ्यूचर के लिए भारत में भिन्न भिन्न राय है क्योंकि यह बिल्कुल ही नया कांसेप्ट है। भारत के लोगों में अभी भी क्रिप्टोकरंसी को लेकर काफी आशंकाएं हैं। ठीक उसी प्रकार एनएफटी को लेकर भी लोगों की अलग-अलग तरह की धारणाएं हैं।

एनएफटी के कारण लोग इस बात से हैरान है, कि कोई सिर्फ उस चीज के लिए इतना पैसा खर्च क्यों करेगा, <जो चीज फिजिकली है ही नहीं>जो एक ऑनलाइन मौजूद प्रॉपर्टी है। लेकिन भारत के कई मशहूर और अमीर हस्तियों ने इसको लेकर घोषणाएं की है, कि यह बहुत जल्द भारत में अपनी जगह बना लेगा, और भारत में एनएफटी लॉन्च करने के लिए "क्रिप्टो एक्सचेंज" के नाम से एक भारतीय कंपनी द्वारा इसकी तैयारी की जा रही है।

NFT का "मार्केट" क्या है? What is the "Market" of NFT in Hindi?

DapRadar कंपनी के शोध के मुताबिक [Ethereum Blockchain] एथेरियम ब्लाकचैन में जारी एनएफटी की कीमत 14 पॉइंट 3 बिलियन डॉलर है, जो पिछले वर्ष लगभग 340 मिलियन डॉलर था। फर्म हैरिस जो कि एक मार्केट रिसर्चर हैं, उनकी स्टडी के मुताबिक मार्च में 11 परसेंट अमेरिकी लोगों का कहना है, कि उन्होंने एनएफटी को खरीदा है, जो [Commodity Market] में खरीदने वाले लोगों से कुछ प्रतिशत ही कम है।

NFT आर्ट वर्क में क्या खासियत होती है? What is special about NFT art work in Hindi?

वैसे तो एनएफटी कुछ साल पहले से ही शुरू हुई है, लेकिन कोविड-19 के दौरान लोगों की NFT की दुनिया में काफी रूचि जागी है। जब एंटरटेनमेंट वेन्यू और आर्ट बंद थे, तो एंटरटेनर्स और आर्टिस्ट ने लोगों को खरीददारों से जुड़ने के नए रास्ते ढूंढे। एनएफटी डिजिटल वस्तुओं में गुण भर देती है। जिससे उनकी वैल्यू तय करना आसान हो जाता है। उदाहरण बतौर जो कोलाज 7 करोड डॉलर में बिका, उसकी विशेषता यह थी कि उसके अंदर आर्टिस्ट के खास ब्लॉकचेन पर किए हुए सिग्नेचर की NFT क्या है? फाइल शामिल थी। वायरल मेमस के क्रिएटर्स को एनएफटी उनके सिग्नेचर वाले कॉपी की बिक्री करने की आज्ञा देती है। कोड की लाइन से ज्यादा एनएफटी कुछ नहीं है। यह आर्ट वर्क की युनिकनैस ब्लॉकचेन पर रजिस्टर करके स्थापित करती है।

NFT on Instagram: इंस्टाग्राम पर आने वाला है NFT, जानिए क्या है Mark Zuckerberg की तैयारी

NFT on Instagram: NFT की Popularity को देखते हुए अब फेसबुक या मेटा के स्वामित्व वाले इंस्टाग्राम ने भी NFT लाने का फैसला किया है। इसको लेकर क्या है मार्क ज़ुकरबर्ग की तैयारी, आइए जानते हैं इस खबर में इंस्टाग्राम हेड Adam Mosseri बीते साल से ही इंस्टाग्राम पर एनएफटी लाने की बात कर रहे हैं और अब आखिरकार ये लागू होने ही जा रहा है ।

instagram 5

नई दिल्ली। दुनिया तेजी से डिजिटलाइज़ेशन की तरफ बढ़ रही है। यही वजह है कि बीते कुछ वक्त से क्रिप्टोकरेंसी और NFT का चलन भी तेजी से बढ़ा है । NFT की Popularity को देखते हुए अब फेसबुक या मेटा के स्वामित्व वाले इंस्टाग्राम ने भी NFT लाने का फैसला किया है। इसको लेकर क्या है मार्क ज़ुकरबर्ग की तैयारी, आइए जानते हैं इस खबर में इंस्टाग्राम हेड Adam Mosseri बीते साल से ही इंस्टाग्राम पर एनएफटी लाने की बात कर रहे हैं और अब आखिरकार ये लागू होने ही जा रहा है । जल्द ही इंस्टाग्राम पर NFT को जोड़ा जाएगा। इस बात की जानकारी Mark Zuckerberg ने एक ब्लॉग पोस्ट के जरिए दी है। मार्क जुकरबर्ग का कहना है कि इंस्टाग्राम में एनएफटी लाया जाएगा। उन्होंने कहा कि, ‘अगले कुछ ही महीनों के अंदर इंस्टाग्राम प्लेटफॉर्म पर NFT को ऐड किया जाएगा।

instagram 3

हालांकि ऐसी चर्चा थी कि फेसबुक और इंस्टाग्राम अपने प्लेटफॉर्म पर NFT इंटीग्रेट करने की तैयारी कर रहे हैं, लेकिन एक रिपोर्ट में कहा गया कि इंस्टाग्राम और फेसबुक पर ऐसे फीचर्स ऐड किए जाएंगे, जिसके तहत NFT को आप अपनी प्रोफाइल में ऐड कर सकेंगे। मार्क जुकरबर्ग ने इस बात की पुष्टि तो कर दी है, कि इंस्टाग्राम पर जल्द ही NFT आएगा। लेकिन इसे कैसे इस्तेमाल किया जाएगा और कंपनी कैसे इसे इम्पलीमेंट करेगी, इस बात की फिलहाल कोई जानकारी नहीं दी गई है लेकिन चर्चा इस बात की है कि इंस्टा या FB पर कंपनी एनएफटी मार्केटप्लेस लॉन्च करेगी। दरअसल, ऐसी कई वेबसाइट्स हैं, जहां से NFT को खरीदा और बेचा जाता है। ऐसे में इंस्टाग्राम और फेसबुक दोनों प्लेटफॉर्म पर NFT को पोस्ट करने का ऑप्शन मिलेगा। जिन लोगों को इसे खरीदना है वो यहां से खरीद सकेंगे।

instagram 2

वैसे इंस्टाग्राम इस तरह का कदम उठाने वाला पहला सोशल प्लेटफॉर्म नहीं है बल्कि इससे पहले ट्विटर ने भी अपने प्लेटफॉर्म पर एनएफटी को ऐड किया है। इसे इस्तेमाल करने के लिए यूजर्स को अपने ट्विटर को अपडेट करना होगा। साथ ही बताई गई Instructions के जरिए पूरे प्रोसेस को फॉलो करना होगा। तो ये थी सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म इंस्टाग्राम पर NFT लाए जाने से जुड़ी जानकारी।

Jagran Trending: Metaverse की दुनिया में नहीं चलेगी नोर्मल करेन्सी, NFT और क्रिप्टो से होगा लेनदेन, जानें डिटेल

एनएफटी एक डिजिटल संपत्ति है जो कला संगीत और गेम जैसे इंटरनेट चीजों की प्रतिनिधित्व करती है जो ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी से बनाए गए एक प्रामाणिक प्रमाण पत्र के साथ है जो क्रिप्टोक्यूरेंसी को रेखांकित करता है। आइए जानते हैं इसके बारे में विस्तार से..

नई दिल्ली, सौरभ वर्मा। मेटावर्स की एक वर्चुअल यानी आभाषी दुनिया होगी। इस वर्चुअल दुनिया में नॉर्मल करेंसी नहीं चलेगी। मेटावर्स वर्ल्ड की अपनी सेलेक्टेड करेंसीज होंगी। यह करेंसी ब्लॉकचेन बेस्ड होगी। जिस पर किसी देश या फिर सरकार का कंट्रोल नहीं होगा। साथ ही एक मेटवर्स से दूसरे मेटावर्स में आने जाने के लिए अगल-अलग करेंसी की जरूरत नहीं होगी। ऐसे में करेंसी एक्सचेंज नहीं कराना होगा। ऐसे में सवाल उठता है कि आखिर मेटावर्स में कैसी करेंसी काम करेंगी। आइए जानते हैं इसके बारे में विस्तार से.

बता दें कि एनएफटी (NFT) और क्रिप्टो टोकन (Crypto token) जैसी डिजिटल करेंसी के बारे में खूब चर्चा रही है। एनएफटी की बदौलत यूजर्स मेटावर्स में अपनी डिजिटल एसेट्स यानी डिजिटल संपत्ति पर पूर्ण कंट्रोल रख सकते हैं। उदाहरण के लिए, अगर आपने मेटावर्स (Metaverse) में एक वर्चुअल जमीन (virtual land) खरीदते हैं, तो मेटावर्स आपको एनएफटी के रूप में कंफर्म सर्टिफिकेट उपलब्ध कराएगा, जिसकी गारंटी ब्लॉकचेन की ओर से दी जाएगी। यह वर्चुअल जमीन आपको क्रिप्टो का उपयोग करके खरीददारी का ऑप्शन देगी।

शान्तनु शर्मा, वाइस प्रेसीडेंट - ग्रोथ एंड मार्केटिंग ईज़ीफ़ाई नेटवर्क के मुताबिक मेटावर्स का अपना मूल यानी Native टोकन होता है, जिसका उपयोग खरीदारी करने के लिए किया जा सकता है। तो मेटावर्स में आप वर्चुअल जमीन उसके एनएफटी और क्रिप्टो के पूर्ण नियंत्रण में हैं, जिसका उपयोग आप जमीन खरीदने के लिए करते थे।

क्रिप्टोकरेंसी भौतिक और आभासी दुनिया के बीच एक कड़ी के रूप में काम करती है। वे हमें फिएट मुद्रा में डिजिटल संपत्ति के मूल्य और समय के साथ उनके रिटर्न की गणना करने की अनुमति देते हैं। दुनिया भर के एक्सचेंजों पर क्रिप्टो की तरलता भी निवेशकों को सिक्कों और एनएफटी को सीधे खरीदारों को बेचकर मुनाफे का एहसास करने NFT क्या है? की अनुमति देती है।

NFT क्या है? What is NFT?

NFT यानी नॉन-फंजिबल टोकन एक तरह का डिजिटल एसेट है जिसे ना तो बदला जा सकता है और ना ही इंटरचेंज किया जा सकता है, क्योंकि इसमें यूनिक गुण है। एनएफटी एक डिजिटल संपत्ति है जो कला, संगीत और गेम जैसे इंटरनेट चीजों की प्रतिनिधित्व करती है, जो ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी से बनाए गए एक प्रामाणिक प्रमाण पत्र के साथ है, जो क्रिप्टोक्यूरेंसी को रेखांकित करता है।

फंजिबल का अर्थ है NFT क्या है? कि दो चीजें आपस में इंटरचेंजेबल हैं, जैसे कि 100 रुपये के नोट- मान लीजिए कि आपके पास 100 रुपये का एक नोट है। इसे किसी दूसरे 100 रुपये के नोट से बदला जा सकता है, इसलिए यह फंजीबल असेट है।

एक नॉन फंजीबल टोकन (Non-fungible token) एक वित्तीय सुरक्षा है, जिसमें एक ब्लॉकचेन में संग्रहीत डिजिटल डेटा होता है, जो वितरित खाता (Distributed Ledger) का एक रूप है। एनएफटी का ownership ब्लॉकचैन में दर्ज किया जाता है, और मालिक द्वारा transfer (हस्तांतरित) किया जा सकता है, जिससे एनएफटी को बेचा और व्यापार किया जा सकता है।

Crypto को सरल भाषा में कैसे बता सकते है?

क्रिप्टोक्यूरेंसी एक डिजिटल या आभाषी करेंसी (Virtual Currency) मुद्रा /डिजिटल संपत्ति है जिसे क्रिप्टोग्राफी टेक्नोलॉजी की ओर से सुरक्षित किया जाता है। यह कंप्यूटर के विकेन्द्रीकृत नेटवर्क और ब्लॉकचैन नामक एक सार्वजनिक खाता बही पर बनाया गया है। इसे एक्सचेंज के माध्यम के रूप में काम करने के लिए डिज़ाइन किया गया NFT क्या है? है।

यह केवल वर्चुअल (virtual) रूप में उपलब्ध है और आमतौर पर संख्या में सीमित है। अर्थात एक सीमित संख्या में क्रिप्टो एक सरकारी करेंसी (sovereign currency) के विपरीत है जो असीमित है और इसे इच्छानुसार मुद्रित किया जा सकता है। उदाहरण, बिटकॉइन केवल 21 मिलियन प्रचलन में आएंगे।

NFT क्या है? – NFT Meaning in Hindi (NON Fungible Token in Hindi)

NFT का नाम सुनते ही सबसे पहले किसी के भी दिमाग में आयेगा की NFT क्या है? (NFT in Hindi) और NFT का मतलब क्या होता है (NFT meaning in Hindi), इसके अलावा जिन लोगो को Crypto-Currency का थोडा बहुत पता होगा उनके दिमाग में प्रश्न आ सकता है की NFT और Crypto-Currency में क्या अंतर है? आज हम आपको इन्ही सभी सवालो का जवाब देने वाले है.

आजकल इन्टरनेट पर यह खबर आपको भी लग गयी होगी की NFT से कैसे लोग लाखों और करोड़ो रूपये कम रहे है, अभी हाल ही में सायद आपने यह सुना होगा की कैसे एक 10 सेकंड के विडियो क्लिप को लगभग 50 करोड़ में बेचा गया है जिसको की मियामी के रोद्रिगुज फेले नामक व्यक्ति ने ख़रीदा है.

अब आपके मन में उत्सुकता बढ़ गयी होगी की आखिर एक छोटा सा विडियो इतना महंगा कैसे बिक सकता है यह तक की twitter के खोजकर्ता ने अपना एक twit NFT बनाकर करोड़ो में बेच दिया, आखिर यह NFT क्या है?(NFT in hindi) और कैसे बनता है? और यह क्रिप्टो-करेंसी से कैसे अलग है? आईये सब जानते है.

Table of Contents

NFT क्या है? -NFT in Hindi

NFT in hindi | NFT kya hai

NFT in Hindi

NFT Full Form: Non Fungible Token (नॉन फंजिबल टोकन)

NFT एक Non-Fungible Token होता है Non-Fungible को NFT क्या है? आसन भाषामें कहे तो इसका मतलब है की ऐसी चीज़ जो unique होती है और जिसको रिप्लेस या बदला (एक दुसरे से) नही जा सकता है उदाहरण के तौर पर क्रिप्टो करेंसी Fungible होता है.

NFT किसी भी आर्ट फॉर्म यानी कला के प्रकार( जैसे – इमेज, विडियो, ऑडियो, टेक्स्ट, कार्टून आदि) को यूनिक बनाता है तथा ब्लाक चैन के सिद्धांत पर कार्य करता है ब्लाक चैन एक डिजिटल टेक्नोलॉजी है जिसमे किसी भी डाटा को ब्लाक के रूप में रखा जाता है डाटा के साथ कुछ और भी जानकारी जुडी होती है जिससे यह बताया जा सकता है की वह कहा से शुरू हुआ कहा ट्रान्सफर हुआ और कौन से माध्यम से होकर आया है यह अपनी सम्पूर्ण ट्रांसक्सन हिस्ट्री को सुरक्षित रखता है.

जिस प्रकार आप बिट-कॉइन को खरीद कर बेच सकते है और फिर से खरीद कर बेच सकते है वह NFT पर लागू नही होता क्यों की NFT को एक बार बेचने के बाद दोबारा बेचा नही जा सकता और न ही इसको कॉपी किया जा सकता है NFT अपने आप में एक ही होता है और कोई भी NFT पूरी दुनिया में भी एक ही होती है.

आप मोनालिसा की पेंटिंग के उदाहरण से समझ सकते है जैसे की मोनालिसा की पेंटिंग दुनिया में एक ही है और इसकी आप कोपी तो बना सकते है मगर ओरिजिनल इसका दूसरा नही बनाया जा सकता है क्यों की इसका ओरिजिनल एक मात्र यूनिक है और उसका एक ही मालिक है.

Difference between Fungible and Non Fungible token in hindi

Fungible: जैसे की क्रिप्टो करेंसी (बिट कॉइन, dogecoin, इथर आदि) जिसको की एक दुसरे से बदला या ट्रेड किया जा सकता है क्यों की इसमें प्रति क्रिप्टो करेंसी की एक मूल्य निर्धारित किया गया है जबकि

Non-Fungible: यानी की NFT प्रति NFT एक यूनिक डिजिटल टोकन होता है जिसका मूल्य उसकी गुणवत्ता पर आधारित अलग अलग होता है इसीलिए इसे रिप्लेस या ट्रेड नही किया जा सकता.

जिस प्रकार हर व्यक्ति एक दुसरे से अलग है और सभी का व्यक्तित्व और दिमाग अलग प्रकार से कार्य करता है उसी प्रकार हरेक NFT की अपनी अलग विशिष्टता होती है और मूल्य भी अलग होता है.

Uses on NFT in Hindi

दोस्तो NFT कलाकारों के लिए एक वरदान की तरह साबित हुआ है अब वह अपनी अनोखी कला को NFT कर सकते है और यूज़ यूनिक बना सकते है जिससे उसके चोरी या कॉपी होने का खतरा कम हो जायेगा.

NFTकिसी भी कला को एक डिजिटल रूप में सुरक्षित करता है यह ब्लाक चैन टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल करता है और पूरा बहीखाता ब्लाक के रूप में अपने साथ सुरक्षित रखता है यह एक प्रकार का लाइसेंस होता है की कौन उस NFT को उपयोग कर सकता है और कौन उसका असली मालिक है.

NFT के अन्य उपयोग-

  • NFT किसी भी प्रकार के डिजिटल आर्ट को यूनिक बनाता है
  • NFT क्रिएटर को एक तरह का लाइसेंस देता है जो यह निश्चित करता है की कौन उसका उपयोग कर सकता है
  • NFT के द्वारा किसी कला को यूनिक बनाया जा सकता है जिससे उसको कोई कॉपी न किया जा सके
  • NFT कला को उसकी विशिष्टता के आधार पर उसका उचित मूल्य पर बेचा जा सकता है

अपना खुद का NFT कैसे बना सकते है?

दोस्तो NFT के अविष्कार ने कलाकारों को एक नई उम्मीद दी है और उनको कमाई के लिए भी एक जरिया प्रदान किया है जिसका इस्तेमाल करके क्रिएटर एक अच्छा खासा मुनाफा कम सकता है दोस्तो अब तक तो आप यह जान ही गए होंगे की NFT किसी भी प्रकार का एक आर्ट form होता है जैसे इमेज, विडियो आदि. तो आईये अब जानते है की आप अपना खुद का NFT कैसे बना सकते है.

वैसे NFT तैयार करना आजकल कोई बड़ी बात नही रह गयी है इसके लिए कुछ बेसिक बाते जानने की जरुरत होती है जैसे की आपको अपनी कला को एक डिजिटल टोकन के रूप में बदलना होता है और उसको NFT सेल करने वाली वेबसाइट पर अपलोड करके बिक्री के लिए छोड़ दिया जाता है.

Opensea एक प्रकार का NFT मार्केटप्लेस है जहा पर जाकर आपको साइन अप करना होगा, बता दे की आपको NFT सेल करने के लिए इस प्रक्रिया में कुछ पैसे भी खर्च करने पद सकते है और NFT को मार्केटप्लेस पर लिस्ट करने के लिए एथेरियम नामक क्रिप्टो करेंसी का इस्तेमाल कर सकते है.

लाखों-करोड़ों रुपये में डिजिटल असेट्स NFTs खरीद रहे हैं लोग, जानें इसके बारे में सबकुछ

लाखों-करोड़ों रुपये में डिजिटल असेट्स NFTs खरीद रहे हैं लोग, जानें इसके बारे में सबकुछ

डिजिटल दुनिया में नए ट्रेंड्स आते रहते हैं और इन दिनों यूजर्स ट्वीट, फेसबुक पोस्ट और फोटोज जैसे डिजिटल असेट्स खरीद रहे हैं। नॉन-फंजिबल टोकेन (NFTs) इन दिनों तेजी से लोकप्रिय हुए हैं और उन्हें लाखों-करोड़ों रुपये की बोली लगाकर खरीदा जा रहा है। हाल ही में ट्विटर CEO जैक डॉर्सी ने सबसे पहले ट्वीट को बिक्री के लिए ऑनलाइन ऑक्शन का हिस्सा बनाया है। आइए जानते हैं कि NFTs क्या होते हैं और इन्हें खरीदने का मतलब क्या है।

क्या होता है NFT?

NFT या नॉन-फंजिबल टोकेन ब्लॉकचेन पर मौजूद डिजिटल असेट को कहते हैं। ब्लॉकचेन एक पब्लिक लेजर के तौर पर काम करती है, जिससे इनकी सत्यता और मालिकाना हक का पता लगाया जा सके। यानी कि दूसरे डिजिटल आइटम्स की कॉपी आसानी से तैयार की जा सकती हैं, लेकिन NFT अपने यूनीक डिजिटल सिग्नेचर के चलते सबसे अलग होते हैं। इनके डिजिटल राइट्स को क्रिप्टोकरेंसी ईथर या फिर डॉलर में भुगतान कर खरीदा जा सकता है।

किस तरह के होते हैं NFTs?

लगभग हर तरह के डिजिटल ऑब्जेक्ट्स को NFT में बदला जा सकता है। इनमें इमेज, वीडियो, टेक्स्ट और ट्वीट्स शामिल हो सकते हैं। डिजिटल आर्ट्स की हाई-प्रोफाइल सेल होती है, वहीं स्पोर्ट्स पसंद करने वाले फैन्स अपने पसंदीदा खिलाड़ी या टीम से जुड़े असेट्स खरीदते हैं। वर्चुअल दुनिया में अलग-अलग तरह के कंटेंट को खरीदने का ट्रेंड बीते दिनों चर्चा में आया है। कोई भी इन्हें देख सकता है, लेकिन मालिकाना हक खरीदने वाले के पास होता है।

कितनी तेजी से बढ़ा मार्केट?

साल 2017 से ही ट्रेड किए जा रहे NFTs का मार्केट 2021 तक काफी बढ़ चुका है। NFT मार्केटप्लेस ओपेनसी (OpenSea) की मंथली सेल जनवरी, 2021 में आठ मिलियन डॉलर रही, जो फरवरी, 2021 में बढ़कर 95.2 मिलियन डॉलर पर पहुंच गई। NFT मार्केट का डाटा जुटाने वाली www.NonFungible.com की मानें तो ईथर ब्लॉकचेन पर कुल NFT ट्रेडिंग वॉल्यूम की कीमत 400 मिलियन डॉलर से ज्यादा है। इनमें से आधी वैल्यू केवल पिछले 30 दिन की है।

क्यों महत्वपूर्ण होते हैं NFT?

डिजिटल असेट्स में निवेश करने वाले इसे ओनरशिप के भविष्य की तरह देखते हैं। उनका मानना है कि आने वाले वक्त में इवेंट टिकट्स से लेकर घरों तक की ओनरशिप ऐसे टोकेन्स की शक्ल में दी जाएगी। आर्टिस्ट्स और डिजिटल क्रिएटर्स के लिए NFTs ने कमाई के नए विकल्प खोल दिए है। आने वाले वक्त में इसी तरह म्यूजिक कॉन्सर्ट्स और इवेंट्स की सीटें भी बुक कराई जा सकती हैं।

अनदेखा नहीं किया जा सकता रिस्क

एक बात जानना जरूरी है कि कोई भी डिजिटल कंटेंट को NFTs में बदल सकता है, ऐसे में इनकी गारंटीड वैल्यू मिलती रहेगी ऐसा नहीं है। एक बार इस ट्रेंड का हाइप कम होने के बाद NFTs खरीदने वालों को नुकसान भी हो सकता है।

रेटिंग: 4.47
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 585
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *