व्यापारिक मुद्रा जोड़े

वास्तविक सफलता कैसे प्राप्त करें?

वास्तविक सफलता कैसे प्राप्त करें?

सक्सेस मंत्र: इन गलतियों के कारण नहीं मिलती है जीवन में बड़ी सफलता

Motivational Mantra: जीवन में हर व्यक्ति को सफलता चाहिए. सफलता के लिए व्यक्ति न जानें कितने जतन करता है, निरंतर परिश्रम करता है. लेकिन इतना सब करने के बाद भी कभी-कभी सफलता नहीं मिलती है. क्यों? आइए जानते हैं.

By: एबीपी न्यूज़ | Updated at : 21 Nov 2020 09:46 PM (IST)

Motivational Mantra In Hindi: सफलता किसी भी परिश्रम का वह प्रतिफल है जो लक्ष्य के पूर्ण होने पर प्राप्त होता है. सफलता की प्रथम सीढ़ी है, लक्ष्य का निर्धारण करना. यदि जीवन में लक्ष्य नहीं होगा तो सफलता भी नहीं होगी.

सफलता कई प्रकार की हो सकती है. लेकिन जो लोग सिर्फ आर्थिक रूप से संपंन हो जाने को ही सफलता मानते हैं वे सही मायने में सफलता के अर्थ को नहीं जानते हैं. बौद्धिक रूप से समृद्ध होना भी एक प्रकार की सफलता है. जो व्यक्ति मानसिक रूप से समृद्ध है, उसके लिए किसी भी प्रकार की सफलता प्राप्त करना, नामुमकिन नहीं है.

सफलता कैसे प्राप्त करें सफलता प्राप्त करने के लिए लक्ष्य का होना परम आवश्यक है. इसलिए पहले लक्ष्य का निर्धारण करें. इसके बाद इस लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए योजना बनाएं. इसके बाद योजना का क्रियान्वयन करें. सतत प्रयासों के द्वारा ही सफलता अर्जित की जा सकती है.

News Reels

सफलता प्राप्त करनी है तो ये गलतियां कभी न करें सफलता प्राप्त करनी है और लक्ष्य को यदि पाना है तो कुछ ऐसी बातें है जिन पर बहुत गंभीरता से ध्यान देना चाहिए. सर्वप्रथम कभी भी हिम्मत न हारें. क्योंकि कभी ऐसा समय आता वास्तविक सफलता कैसे प्राप्त करें? है जब कठोर परिश्रम करने के बाद भी सफलता दूर लगती है. यही वह स्थिति होती है जब व्यक्ति के धैर्य की परीक्षा होती है. विद्वानों का मत है कि जब लगने लगे कि अंधेर घनघोर है तो समझ लें आपके जीवन में रोशनी आने वाली है. इसलिए हिम्मत नहीं हारनी चाहिए.

सत्य को अपनाएं सफलता प्राप्त करने के लिए कभी भी गलत तरीकों का प्रयोग नहीं करना चाहिए और न ही झूठ का सहारा लेना चाहिए. झूठ बोलने की आदत सफलता में सबसे बड़ा बाधा है. झूठ बोलने से व्यक्ति का आत्म विश्वास कमजोर होता है. वह स्वयं को मन ही मन कमजोर समझता है. इसलिए स्वयं की ताकत को पहचानें और कठोर परिश्रम करें.

Published at : 21 Nov 2020 09:46 PM (IST) Tags: Motivational Mantra safalta safalta ka mool mantra safalta prapti mantra Success mantra हिंदी समाचार, ब्रेकिंग न्यूज़ हिंदी में सबसे पहले पढ़ें abp News पर। सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट एबीपी न्यूज़ पर पढ़ें बॉलीवुड, खेल जगत, कोरोना Vaccine से जुड़ी ख़बरें। For more related stories, follow: Lifestyle News in Hindi

Elephant In Dream : अगर सपने में दिखाई दे हाथी, तो यहां समझें कि आप आगे बढ़ने के लिए क्या बना रहे हैं प्लान?

Elephant In Dream : यदि आप एक हाथी प्रेमी हैं, तो आप अक्सर जानवरों के बारे में सपने देख सकते हैं. आप उनके इतने शौकीन हो सकते हैं कि आपकी भावनाएं आपके सपनों में भी प्रतिबिंबित हो सकती हैं. लेकिन अगर आपके सपने में एक हाथी दिखाई दे तो समझें क्या हो सकता है?

Copyright © 2022. INDIADOTCOM DIGITAL PRIVATE LIMITED. All Rights Reserved.

सफलता के लिए ज्ञान के साथ बुद्धिमता भी जरूरी : डॉ जोसफ

रांची, वरीय संवाददाता। एक्सआईएसएस के मार्केटिंग मैनेजमेंट प्रोग्राम और मार्कबज : द मार्केटिंग क्लब की ओर से संस्थान में शुक्रवार को इंटर बी स्कूल प्रतियोगिता ‘मैक्सफेस्ट आयोजित हुआ। इसमें एमडीआई मुर्शीदाबाद, आईआईएम संबलपुर, आईआईएम बोधगया और एक्सआईएसएस रांची के छात्रों ने पांच प्रतिस्पर्धी कार्यक्रमों में भाग लिया। ‘मैक्सफेस्ट में हुई प्रतियोगिताओं में प्रतिभागियों ने दक्षता दिखाई।

कार्यक्रम के शुभारंभ पर एक्सआईएसएस निदेशक डॉ जोसफ मारियानुस कुजूर एसजे बोले, जीवन में सफल होने के लिए केवल ज्ञान की ही नहीं, बुद्धिमता की भी जरूरत होती है। ऐसे कार्यक्रम से आपके अंदर का कौशल विकसित होता है। डॉ प्रदीप केरकेट्टा एसजे ने अर्थव्यवस्था में मार्केटिंग के महत्व के बारे में बात की। डॉ अमर ई तिग्गा ने इस आयोजन को वास्तविक बाजार परिदृश्य में बढ़ाने पर अपने विचार साझा किया, जो प्रतिभागियों को वास्तविकता से सामना कराएगा। मार्केटिंग मैनेजमेंट प्रोग्राम के प्रमुख डॉ भवानी प्रसाद महापात्रा ने कहा कि सफलता के लिए न केवल सपने देखें बल्कि योजना बनाएं और उनपर विश्वास भी करें।

मेजबान टीम ने तीन प्रतियोगिताएं जीतीं

ग्रामीण जैप एक लाइव बिक्री प्रतियोगिता थी, जहां छात्रों को बेचने के लिए उत्पाद दिए गए थे। इसमें एक्सआईएसएस की टीम फीनिक्स ने जीत हासिल की थी। ब्रांड रेस में प्रतिभागियों को एक व्यवसायिक विचार पेश करना था जो वास्तविक दुनिया की समस्या को हल करेगा और विजेता एक्सआईएसएस की टीम यूनिटम रही। मार्क मंथन में प्रतिभागियों के व्यापार कौशल की जांच की गई, जिसमें आईआईएम बोधगया की टीम ब्रोकोड विजेता बनी। रीक्रिएट द ऐड में प्रतिभागियों को एक असफल विज्ञापन-अभियान को पुनर्जीवित करना था, जिसमें आईआईएम संबलपुर की टीम क्रिएटिव बड्स ने जीत हासिल की। केस स्टडी प्रतियोगिता में एक्सआईएसएस रांची की टीम पीएस ने जीत हासिल की।

फ्लैश मॉब का प्रदर्शन

कैंपस में मार्केटिंग मैनेजमेंट के छात्रों ने फ्लैश मॉब का प्रदर्शन कर सभी को थिरकने पर मजबूर कर दिया। डॉ पिनाकी घोष, डॉ पूजा और डॉ टीना मुरारका ने कार्यक्रम का समन्वय किया। इसे सफल बनाने में प्रेरणा अदिति, हेपजीबा पात्रो, अर्नब दास, कृतिका खास्केल, विवेक बेंजामिन ने योगदान दिया।

SSC CGL 2022 : इन 5 तरीकों से करेंगे तैयारी तो आसानी से निकलेंगे सीजीएल टियर-1 व 2, जानें पूरी बात

कर्मचारी चयन आयोग (SSC) CGL परीक्षा 2022 सिर्फ दो टियर में आयोजित की जा रही है। अगर ये 7 ट्रिक्स आप जानते हैं तो एसएससी के टियर - 1 और टियर - 2 को निकालना आपके लिए आसान होगा। एसएससी टियर - 1 का आयोजन 1 से 13 दिसम्बर तक आयोजित करेगा और टियर - 2 की तिथियां घोषित होना अभी बाकी हैं।

एसएससी सीजीएल

कर्मचारी चयन आयोग (SSC) द्वारा कंबाइंड ग्रेजुएट लेवल परीक्षा (CGL) के टियर-1 को दिसम्बर में आयोजित करने की घोषणा कर दी है। जिसके बाद विभिन्न मंत्रालयों में रिक्त अधिकारियों के पदों पर भर्ती के लिए तैयारी कर रहे युवा और गंभीरता से तैयारी में जुट गए हैं। एसएससी ने इस परीक्षा के लिए 17 सितम्बर को नोटिफिकेशन जारी कर आवेदन प्रक्रिया शुरू की थी। जोकि 13 अक्तूबर तक जारी रही। सूत्रानुसार एसएससी सीजीएल परीक्षा 2022 के जरिए तकरीबन 35 हजार पदों को भरने जा रहा है। हर वर्ष इस परीक्षा के लिए 20 लाख से ज्यादा आवेदन आते हैं। इस वर्ष भी आवेदनों की संख्या 25 लाख को पार कर सकती है। इसलिए ये परीक्षा बहुत टफ हो जाती है। लेकिन यदि हम परीक्षा पैटर्न जानते हैं, उचित स्टडी मटीरियल है, सिलेबस पता है, मॉक टेस्ट देते हैं, पिछले वर्ष के प्रश्न पत्र हल कर रहे हैं और सवाल हल करने की शॉर्ट ट्रिक्स के बारे में जानते हैं तो एसएससी सीजीएल परीक्षा कठिन नहीं है। अगर आप भी एसएससी सीजीएल की तैयारी कर रहे हैं तो SSC CGL Online Batch : Join Now की सहायता लेकर परीक्षा की पूरी व पक्की तैयारी कर सकते हैं। सफलता के अनुभवी एक्सपर्ट्स द्वारा यहां आपको एक ही बैच में पूरा पैकेज दिया जाएगा। ताकि आप परीक्षा आसानी से क्रैक कर सकें।

परीक्षा क्रैक करने के 5 तरीके

  • परीक्षा पैटर्न - जब आप तैयारी शुरू करते हैं तो परीक्षा पैटर्न किसी भी परीक्षा की तैयारी के लिए पहला कदम होता है। परीक्षा पैटर्न आपको प्रश्नों की संख्या, मार्क्स, परीक्षा की अवधि और कितने सेक्शन से प्रश्न आयेंगे की जानकारी पाने में मदद करता है।
  • उचित स्टडी मैटेरियल का चुनाव - स्टडी के सोर्स के बारे में भ्रमित न हों। बहुत अधिक सोर्स का उपयोग न करें इससे आप कंफ्यूज होंगे क्योंकि हर किसी की अपनी अलग-अलग वास्तविक सफलता कैसे प्राप्त करें? ट्रिक्स होती हैं। हम आपको सफलता डॉट कॉम द्वारा स्टडी मैटेरियल का उपयोग करने की सलाह देते हैं, यहां आपको सिलेबस का व्यापक कवरेज मिलेगा।
  • सिलेबस के अनुसार स्टडी प्लान - आप देखें कि कौन से सेक्शन हैं, जो आपका पसंदीदा है। आपके पास किस सेक्शन पर कमांड है और कौन से विषय अधिक महत्वपूर्ण हैं। हर विषय को रोजाना कवर करने का प्रयास करें, इससे आपको पूरे सिलेबस को कवर करने में मदद मिलेगी और आप सभी की प्रैक्टिस कर पाएंगे।
  • मॉक टेस्ट - अपनी तैयारी के हर दूसरे दिन मॉक अटेम्प्ट करें, विषयवार मॉक टेस्ट चुनें, और फिर फुल - लेंथ मॉक अटेम्प्ट करें। टॉपिक - वाइज मॉक आपको यह समझने में मदद करेगा कि तैयारी की स्ट्रेटजी क्या रखें और अंततः इससे अपनी ताकत और कमजोरी का ज्ञान होगा।
  • पिछले साल का पेपर - इससे उम्मीदवारों को परीक्षा पैटर्न का वास्तविक आइडिया मिलेगा। पिछले साल के पेपर की प्रैक्टिस करने से आपको पूछे जाने वाले सभी प्रकार के प्रश्न का ज्ञान होगा।
  • शॉर्ट ट्रिक्स - उचित ज्ञान के साथ कम समय अवधि में प्रश्नों को हल करने के लिए क्वांट और अन्य ट्रिक्स को हल करने के लिए शॉर्ट ट्रिक्स बहुत महत्वपूर्ण हैं। उम्मीदवारों को इसके लिए केवल एक ही सोर्स का अनुसरण करना चाहिए ताकि वे कंफ्यूज न हों।
  • टाइम मैनेजमेंट - परीक्षा पैटर्न के अनुसार, आप सभी जानते हैं कि इसमें 2 घंटे में 200 अंकों के 100 प्रश्न हल करने होंगे। आपको उसी के अनुसार अपनी रणनीति बनानी होगी और अपने calculation को बहुत मजबूत बनाना होगा। अच्छे अंक प्राप्त करने के लिए टाइम मैनेजमेंट महत्वपूर्ण है।

कैसे करें प्रतियोगी परीक्षाओं की पक्की तैयारी :

अगर आप सरकारी नौकरी का सपना देख रहे हैं और उसके लिए सालों से मेहनत कर रहे हैं लेकिन आप अपनी परीक्षा में सफल नहीं हो सके या फिर आपका प्रदर्शन ज्यादा अच्छा नहीं रहा तो आप एक बार सफलता डॉट कॉम द्वारा लगभग सभी प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए चलाए जा रहे बैच और फ्री कोर्सेस का हिस्सा जरूर बनें। सफलता द्वारा इस समय SBI क्लर्क, SBI पीओ, SSC CGL, दिल्ली पुलिस कॉन्स्टेबल समेत कई प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए खास कोर्स चलाए जा रहे हैं। आप भी इन कोर्सेस की मदद से अपनी बाकी की तैयारी और कम्प्लीट रिवीजन कर सकते हैं तो देर किस बात की safalta app के जरिए तुरंत इन कोर्सेस में एडमिशन लें और सरकारी नौकरी के अपने सपने को साकार करें।

विस्तार

कर्मचारी चयन आयोग (SSC) द्वारा कंबाइंड ग्रेजुएट लेवल परीक्षा (CGL) के टियर-1 को दिसम्बर में आयोजित करने की घोषणा कर दी है। जिसके बाद विभिन्न मंत्रालयों में रिक्त अधिकारियों के पदों पर भर्ती के लिए तैयारी कर रहे युवा और गंभीरता से तैयारी में जुट गए हैं। एसएससी ने इस परीक्षा के लिए 17 सितम्बर को नोटिफिकेशन जारी कर आवेदन प्रक्रिया शुरू की थी। जोकि 13 अक्तूबर तक जारी रही। सूत्रानुसार एसएससी सीजीएल परीक्षा 2022 के जरिए तकरीबन 35 हजार पदों को भरने जा रहा है। हर वर्ष इस परीक्षा के लिए 20 लाख से ज्यादा आवेदन आते हैं। इस वर्ष भी आवेदनों की संख्या 25 लाख को पार कर सकती है। इसलिए ये परीक्षा बहुत टफ हो जाती है। लेकिन यदि हम परीक्षा पैटर्न जानते हैं, उचित स्टडी मटीरियल है, सिलेबस पता है, मॉक टेस्ट देते हैं, पिछले वर्ष के प्रश्न पत्र हल कर रहे हैं और सवाल हल करने की शॉर्ट ट्रिक्स के बारे में जानते हैं तो एसएससी सीजीएल परीक्षा कठिन नहीं है। अगर आप भी एसएससी सीजीएल की तैयारी कर रहे हैं तो SSC CGL Online Batch : Join Now की सहायता लेकर परीक्षा की पूरी व पक्की तैयारी कर सकते हैं। सफलता के अनुभवी एक्सपर्ट्स द्वारा यहां आपको एक ही बैच में पूरा पैकेज दिया जाएगा। ताकि आप परीक्षा आसानी से क्रैक कर सकें।

वास्तविक नियंत्रण रेखा पर हालात स्थिर लेकिन अप्रत्याशित, चीन कर रहा निर्माण: सेना प्रमुख

भारतीय सेना प्रमुख जनरल मनोज पांडे ने कहा है कि राजनीतिक, राजनयिक और सैन्य स्तर की बातचीत के कारण हम सात संघर्ष बिंदुओं में से पांच का समाधान निकालने में सफल रहे हैं. शेष दो बिंदुओं के संबंध में 17वें दौर की वार्ता पर विचार कर रहे हैं. हालांकि, वहां टकराव के हालात नहीं हैं, लेकिन फिलहाल तनाव में कमी नहीं आई है. The post वास्तविक नियंत्रण रेखा पर हालात स्थिर लेकिन अप्रत्याशित, चीन कर रहा निर्माण: सेना प्रमुख appeared first on The Wire - Hindi.

भारतीय सेना प्रमुख जनरल मनोज पांडे ने कहा है कि राजनीतिक, राजनयिक और सैन्य स्तर की बातचीत के कारण हम सात संघर्ष बिंदुओं में से पांच का समाधान निकालने में सफल रहे हैं. शेष दो बिंदुओं के संबंध में 17वें दौर की वार्ता पर विचार कर रहे हैं. हालांकि, वहां टकराव के हालात नहीं हैं, लेकिन फिलहाल तनाव में कमी नहीं आई है.

सेना प्रमुख मनोज पांडे. (फोटो: पीटीआई)

नई दिल्ली: सेना प्रमुख जनरल मनोज पांडे ने चीन से लगती सरहद पर 30 महीने से अधिक समय से जारी गतिरोध के बीच शनिवार को कहा कि पूर्वी लद्दाख में ‘स्थिति स्थिर, लेकिन अप्रत्याशित’ है.

जनरल पांडे ने एक विचार समूह (थिंक टैंक) को संबोधित करते हुए कहा कि भारत और चीन के बीच अगले दौर की सैन्य वार्ता में विवाद के दो शेष बिंदुओं से जुड़े मुद्दों को हल करने पर ध्यान होगा.

ऐसा माना जा रहा है कि उन्होंने डेमचोक और देपसांग का जिक्र करते हुए यह बात कही.

सेना प्रमुख वास्तविक सफलता कैसे प्राप्त करें? ने कहा कि विवाद के सात बिंदुओं में से पांच पर मुद्दों को बातचीत के माध्यम से हल कर लिया गया है. उन्होंने साथ ही कहा कि इस क्षेत्र में वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर चीनी सैनिकों (पीपुल्स लिबरेशन आर्मी – पीएलए) की संख्या में कोई कमी नहीं हुई है, लेकिन सर्दियों की शुरुआत के साथ कुछ पीएलए ब्रिगेड के लौटने के संकेत हैं.

उन्होंने कहा कि व्यापक संदर्भ में वास्तविक नियंत्रण रेखा पर अपनी कार्रवाई का बहुत सावधानी से आकलन करने की जरूरत है, ताकि भारत अपने हितों एवं संवेदनशीलताओं की सुरक्षा कर पाए.

जनरल पांडे ने एक सवाल के जवाब में कहा, ‘यदि मुझे इसे (हालात को) एक वाक्य में परिभाषित करना हो, तो मैं कहूंगा कि स्थिति स्थिर, किंतु अप्रत्याशित है.’

भारत शेष मुद्दों के समाधान के लिए चीन के साथ उच्च स्तर की सैन्य वार्ता के अगले दौर को लेकर आशावादी है.

उन्होंने कहा, ‘हम 17वें दौर की वार्ता की तारीख पर विचार कर रहे हैं.’

सीमावर्ती इलाकों में चीन के बुनियादी ढांचा (Infrastructure) विकसित करने के विषय पर थलसेना प्रमुख ने कहा कि यह लगातार हो रहा है.

इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक सेना प्रमुख ने कहा, ‘आप दोनों पक्षों के बीच राजनीतिक, राजनयिक और सैन्य स्तर पर चल रही बातचीत से अवगत हैं. इन वार्ताओं के कारण हम सात संघर्ष बिंदुओं में से पांच का समाधान निकालने में सफल रहे हैं. यह वार्ता (17 वें दौर) अगले दो संघर्ष बिंदुओं के लिए है, जिनका हम समाधान निकालने का प्रयास कर रहे हैं.’

दो शेष संघर्ष बिंदु डेमचोक में चार्डिंग नाला और देपसांग मैदान हैं, जहां चीनी सेना ने कई पारंपरिक गश्त (पेट्रोलिंग) के बिंदुओं तक भारतीय पहुंच को अवरुद्ध कर दिया है.

जनरल पांडे ने यह भी संकेत दिया कि हालांकि टकराव के हालात नहीं हैं, लेकिन फिलहाल वहां तनाव में कमी नहीं आई है.

उन्होंने कहा, ‘जहां तक पीपुल्स लिबरेशन आर्मी की संख्या का सवाल है तो उसमें कोई खास कमी नहीं आई है.’

वास्तविक नियंत्रण रेखा पर चीनी बुनियादी ढांचे के विकास पर उन्होंने कहा, ‘यह लगातार तेजी से हो रहा है. सड़क का बुनियादी ढांचा, हैलीपेड, हवाई क्षेत्र समेत ठीक पास तक सड़कें बन गई हैं. गौर करने योग्य गतिविधियां जी695 सड़क या राजमार्ग रहा है, जो एलएसी के समानांतर चल रहा है. यह न केवल उन्हें सेना को आगे बढ़ाने की क्षमता प्रदान करेगा, बल्कि सेना को एक सेक्टर से दूसरे सेक्टर में स्विच करने की भी क्षमता देगा.’

क्षेत्र में भारतीय थलसेना की तैयारियों के बारे में उन्होंने कहा, ‘सर्दियों के मौसम के अनुकूल तैयारी जारी है.’

जनरल पांडे ने यह भी कहा कि ‘अपने हितों की सुरक्षा के लिए वास्तविक नियंत्रण रेखा पर हमारे कार्यों को बहुत सावधानीपूर्वक समायोजित करने’ की जरूरत है.

सेना प्रमुख ने कहा, ‘जहां तक हमारी तैयारियों का सवाल है, हम सर्दियों के मौसम के अनुकूल तैयारी कर रहे हैं. लेकिन हमने यह भी सुनिश्चित किया है कि इस आकस्मिकता से निपटने के लिए हमारे पास पर्याप्त बल और पर्याप्त रिजर्व हों. बड़े संदर्भ में देखें तो, हमें अपने हितों और संवेदनशीलता दोनों की रक्षा करने में सक्षम होने के लिए एलएसी पर अपने कार्यों को बहुत सावधानी से जांचना होगा, फिर भी सभी प्रकार की आकस्मिकताओं से निपटने के लिए तैयार होना चाहिए.’

रेटिंग: 4.25
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 386
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *