व्यापारिक मुद्रा जोड़े

निवेश की पेशकश

निवेश की पेशकश

विदेशी निवेश की पेशकश से 24 फीसदी उछला यस बैंक का शेयर

मुंबई, 31 अक्टूबर (एजेंसी)| यस बैंक को विदेशी निवेशकों की ओर से 1.2 अरब डॉलर के निवेश की पेशकश मिलने के कारण बैंक के शेयर में गुरुवार को 24 फीसदी का उछाल आया। बंबई स्टॉक एक्सचेंज पर यस बैंक के शेयर भाव 31.65 रुपये यानी 24.03 फीसदी के उछाल के साथ 70.45 रुपये प्रति शेयर पर बंद हुआ। कारोबार के दौरान बैंक के शेयर का भाव 76.65 रुपये प्रति शेयर तक उछला जबकि इसका निचला स्तर 54.90 रुपये प्रति शेयर रहा।

इससे पहले बैंक ने दिन में रेग्यूलेटरी फाइलिंग में बताया, ” बैंक यह सूचित करना चाहेगा कि उसे अब एक विदेशी निवेशक से नई इक्विटी के जरिए 1.2 अरब डॉलर के निवेश की पेशकश मिली है जो विनियामक की मंजूरी के अधीन है। साथ ही इसे बैंक के निदेशक मंडल व शेयरधारकों की भी मंजूरी मिलनी है।”

यस बैंक लिमिटेड निजी क्षेत्र का बैंक है जिसकी स्थापना 2004 में राणा कपूर और अशोक कपूर ने की थी।

सरकार की इस स्कीम में आपको मिलेंगे ₹1 करोड़, बस हर दिन जमा करें 417 रुपये, चेक करें डिटेल

अगर आप भी करोड़पति बनने (How to become a crorepati) का ख्वाब देख रहे हैं तो इसे आप पूरा कर सकते हैं। इसके लिए आपको निवेश की आदत (investment planning) डालनी होगी।

सरकार की इस स्कीम में आपको मिलेंगे ₹1 करोड़, बस हर दिन जमा करें 417 रुपये, चेक करें डिटेल

PPF Investment: अगर आप भी करोड़पति बनने (How to become a crorepati) का ख्वाब देख रहे हैं तो इसे आप पूरा कर सकते हैं। इसके लिए आपको निवेश की आदत (investment planning) डालनी होगी। अगर हम छोटी सेविंग्‍स को रेगुलर आदत बना ले, तो यह आने वाले सालों में बड़ी रकम बना सकता है। आपको बता दें कि केंद्र सरकार द्वारा समर्थित कई निवेश योजनाएं हैं जो बिना किसी जोखिम के साथ अच्छे रिटर्न की पेशकश करती हैं। ऐसा ही एक निवेश विकल्प है- पब्लिक प्रोविडेंट फंड (PPF) । पीपीएफ जोखिम से बचने वाले निवेशकों के लिए सबसे आकर्षक निवेश विकल्पों में से एक है। साथ ही इसे लंबी अवधि के लक्ष्यों के लिए निवेश की पेशकश पैसे बचाने की चाहत रखने वाले निवेशकों द्वारा खूब पसंद किया जाता है। आप पीपीएफ में निवेश की पेशकश मासिक पैसा भी बचा सकते हैं और मैच्योरिटी के समय लगभग 1 करोड़ रुपये पा सकते हैं। आइये जानते हैं कैसे?


पीपीएफ इंटरेस्ट रेट और मैच्योरिटी
वर्तमान में, पीपीएफ सालाना 7.1 प्रतिशत की ब्याज दर देता है और ब्याज की गणना मासिक आधार पर की जाती है। दिशानिर्देश के अनुसार, निवेशक अपने पीपीएफ खाते में लगातार 15 वर्षों तक अपना पैसा निवेश कर सकते हैं। हालांकि, अगर किसी को 15 साल के अंत में पैसे की जरूरत नहीं है, तो वह पीपीएफ खाते की अवधि को आवश्यकतानुसार कई वर्षों तक बढ़ा सकता है। यह पीपीएफ खाता पांच साल के ब्लॉक में किया जा सकता है। निवेशक अपने पीपीएफ खातों में कम से कम 500 रुपये प्रति वर्ष और अधिकतम 1.5 लाख रुपये प्रति वर्ष तक निवेश कर सकते हैं।

बचा सकते हैं टैक्स
पीपीएफ फिलहाल गारंटीड रिटर्न देता है। पीपीएफ के नियमों के अनुसार, इसमें हर साल 1.5 लाख रुपये तक निवेश की पेशकश का निवेश आयकर अधिनियम 1961 की धारा 80 सी के तहत कर कटौती के लिए योग्य है। बता दें कि यह अन्य निश्चित निवेश योजना की तुलना में ज्यादा रिटर्न देता है। सरकार द्वारा हर तिमाही में PPF की ब्याज दर (PPF interest rate) को संशोधित किया जाता है। वर्तमान में, सरकार पीपीएफ योजनाओं के तहत किए गए सभी निवेशों के लिए 7.1% वार्षिक ब्याज दर पर रिटर्न दे रही है।

मैच्योरिटी पर मिलेंगे 1 करोड़ रुपये
अगर आप पीपीएफ में समझदारी से निवेश करते हैं और आप हर महीने कुछ हजार रुपये का निवेश करते हैं तो मैच्योरिटी के समय आप 1 करोड़ रुपये कमा सकते हैं। इसके लिए आपको हर साल 1.5 लाख रुपये का निवेश करना होगा। यानी हर महीना 12,500 रुपये। यानी हर दिन 417 रुपये जमा करने होंगे। 15 साल के निवेश के बाद, जब आपकी योजना मच्योर होगी, तो आपको 7.1% ब्याज दर पर लगभग 40 लाख रुपये मिलेंगे। हालांकि, निवेशकों के पास 15 साल की अनिवार्य परिपक्वता अवधि पूरी होने के बाद 5 साल के ब्लॉक में पीपीएफ खाते का विस्तार करने का विकल्प है। इसलिए, पीपीएफ खाते में 20 साल के लिए 1.5 लाख रुपये हर साल निवेश करने से लगभग 66 लाख रुपये का फंड तैयार हो जाएगा। अगर आप अगले पांच साल के लिए 1.5 लाख रुपये प्रति वर्ष निवेश करना जारी रखते हैं, तो 25 साल में आपका पीपीएफ बैलेंस लगभग 1 करोड़ रुपये पहुंच जाएगा।

Saving Schemes: सुरक्षित निवेश के साथ मुनाफा कमाने की गारंटी देती हैं ये सेविंग स्कीम्स, बढ़ी ब्याज दरों का उठाएं लाभ

Small Saving Scheme Invest Return : वित्त मंत्रायल ने छोटी बचत योजनाओं की ब्याज दरें बढ़ाकर निवेशकों को अधिक मुनाफा देने की पेशकश की है.

interest rates on small savings schemes

interest rates Saving Schemes : सुरक्षित निवेश के साथ गारंटी मुनाफा कमाना चाहते हैं तो आपको स्मॉल सेविंग स्कीम्स में निवेश करना चाहिए.

केंद्र सरकार कुल 12 कैटेगरी की छोटी बचत योजनाओं को संचालन करती है. सितंबर माह में सरकार ने केवल 5 छोटी बचत योजनाओं पर ब्याज दरों को बढ़ाया था. जबकि, 7 बचत योजनाओं पर ब्याज दरें पहले जैसी ही लागू रखी थीं. अब सरकार दिसंबर माह में समीक्षा के बाद फिर से ब्याज दरों को रिवाइज करेगा. इसलिए पांच बचत योजनाओं पर निवेश कर ग्राहक अच्छा मुनाफा कमा सकते हैं.

वित्त मंत्रालय ने फाइनेंशियल ईयर 2022-23 के लिए 01 अक्टूबर से 31 दिसंबर तक के लिए छोटी बचत योजनाओं पर नई ब्याज दरें लागू की थीं. नीचे दी गई बचत योजनाओं पर मिलने वाली ब्याज दर दी गई है. निवेशक तय समय के लिए पैसा लगाकर इन योजनाओं के जरिए अच्छा मुनाफा कमा सकते हैं.

शॉर्ट टर्म म्युचुअल फंड

यहाँ भारत में शीर्ष प्रदर्शन करने वाली संतुलित धनराशि / हाइब्रिड म्यूचुअल फ़ंड योजनाएँ हैं:

शॉर्ट टर्म म्यूचुअल फंड नाम3 साल का रिटर्न5 साल का रिटर्न
रिलायंस प्राइम डेट फंड7.65%8.16%
आईसीआईसीआई प्रूडेंशियल शॉर्ट टर्म फंड7.6%8.4%
आईसीआईसीआई प्रूडेंशियल सेविंग्स फंड7.85%8.34%
आदित्य बिड़ला सनलाइफ शॉर्ट टर्म ऑपर्चुनिटीज फंड7.86%8.51%
यूटीआई ट्रेजरी एडवांटेज फंड7.76%8.26%
आदित्य बिड़ला सन लाइफ सेविंग्स फंड8.निवेश की पेशकश 08%8.52%
एचडीएफसी शॉर्ट टर्म डेट फंड7.74%8.34%
आईडीएफसी बॉन्ड फंड7.21%7.88%
कोटक कॉर्पोरेट बॉन्ड फंड8.21%9.10%
एलएंडटी शॉर्ट टर्म बॉन्ड फंड7.33%7.93%
आईडीएफसी बॉन्ड फंड – एमटीपी-डी5.17%5.67%
कोटक डायनामिक बॉन्ड फंड9.10%8.78%
IDFC बॉन्ड फंड शॉर्ट टर्म डायरेक्ट प्लान (ग्रोथ)7.92%8.54%

* प्रदर्शन के अनुसार रिटर्न रेट्स सब्जेक्ट को बदलने के लिए हैं

शॉर्ट टर्म म्यूचुअल फंड क्या हैं?

म्यूचुअल फंड स्कीम 4 साल तक के अल्पकालिक निवेश एवेन्यू के साथ ग्राहकों को सक्षम करने को आम तौर पर अल्पकालिक म्यूचुअल फंड कहा जाता है। ये वित्तीय योजनाएं हैं जिनके पोर्टफोलियो में 15 दिनों से लेकर अधिकतम 91 दिनों तक की परिपक्वता अवधि की पेशकश करने वाली प्रतिभूतियां शामिल हैं। यह म्यूचुअल फंड स्कीम एक निवेश साधन है जो कम से मध्यम जोखिम के साथ स्थिर रिटर्न की सुविधा देता है। यह टुकड़ा शॉर्ट-टर्म म्यूचुअल फंड्स पर एक संक्षिप्त जानकारी देता है। इन फंड योजनाओं को विशेष रूप से छोटी अवधि में स्थिर रिटर्न अर्जित करने के लिए तैयार किया गया है।

कई बार, शॉर्ट टर्म म्यूचुअल फंड स्कीम की तुलना फिक्स्ड डिपॉजिट्स (एफडी) से की गई है क्योंकि इन दोनों स्कीमों का निवेश रिटर्न बहुत समान है।

भले ही सावधि जमा, कर दक्षता, तरलता के साथ-साथ स्थिर रिटर्न के साथ तुलना में शॉर्ट टर्म डेट फंड जोखिम भरा साधन हो, लेकिन ये म्यूचुअल फंड स्कीम फिक्स्ड डिपॉजिट को खत्म कर देती हैं।

बहुत कम क्षितिज वाले निवेशक 15 दिन या उससे कम समय के लिए लिक्विड फंड का विकल्प चुन सकते हैं, जबकि अधिक से अधिक निवेश अवधि की तलाश करने वाले निवेशकों का कहना है कि 2 से 3 महीने के लिए अल्ट्रा-शॉर्ट-टर्म फंडों की एक विस्तृत श्रृंखला से चुन सकते हैं। डेट फंड निवेशों ने फिक्स्ड डिपॉजिट स्कीमों के विपरीत 10% वार्षिक रिटर्न का उत्पादन किया है जो वार्षिक रिटर्न का मात्र 7% उपज है।

इसके अतिरिक्त, अल्पकालिक म्यूचुअल फंड परिपक्वता की तारीख से पहले रिडेम्पशन पर जुर्माना आकर्षित नहीं करते हैं, जब तक कि उन्हें पूर्व-निर्धारित अवधि से पहले भुनाया नहीं जाता है। सामान्य परिस्थितियों में, पूर्व निर्धारित अवधि 5 दिन से 6 महीने तक होती है। इसके विपरीत, भले ही फिक्स्ड डिपॉजिट में लिक्विडिटी अधिक हो, 1% तक का जुर्माना लगाया जाता है, अगर एफडी उनकी परिपक्वता तिथि से पहले भुनाए जाते हैं।

एनएसई ने निवेशकों को रिटर्न की गारंटी वाली निवेश योजनाओं के खिलाफ आगाह किया

नयी दिल्ली, 10 नवंबर (भाषा) नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) ने बृहस्पतिवार को निवेशकों को आगाह किया कि वे सेमसन यूनिट्रेड से जुड़े समीर गुलाबराव थिटे की निवेश योजनाओं के झांसे में नहीं आएं, जिनमें सुनिश्चित रिटर्न की पेशकश की जाती है।

एनएसई ने कहा कि उपरोक्त व्यक्ति और संस्थान पंजीकृत नहीं हैं और न ही वे एनएसई में पंजीकृत सदस्य से आधिकारिक तौर पर जुड़े हैं।

एनएसई को पता चला था निवेश की पेशकश कि सेमसन यूनिट्रेड से जुड़े समीर गुलाबराव थिटे निवेशकों के व्यवयासी खातों को संभालने की पेशकश कर रहे हैं और उनसे उनकी उपभोक्ता आईडी तथा पासवार्ड मांग रहे हैं। शेयर बाजार ने कहा, ‘‘निवेशकों को आगाह किया जाता है तथा सलाह दी जाती है कि वे ऐसी किसी योजना अथवा उत्पाद के झांसे में न आए, जिनमें शेयर बाजार में गारंटी के निवेश की पेशकश साथ रिटर्न की पेशकश होती है, क्योंकि कानून के तहत यह प्रतिबंधित है।’’

यह खबर ‘भाषा’ न्यूज़ एजेंसी से ‘ऑटो-फीड’ द्वारा ली गई है. इसके कंटेंट के लिए दिप्रिंट जिम्मेदार नहीं है.

रेटिंग: 4.71
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 737
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *