मुफ़्त विदेशी मुद्रा रणनीति

ट्रिपल टॉप चार्ट पैटर्न

ट्रिपल टॉप चार्ट पैटर्न
चार्ट पैटर्न का विश्लेषण: ट्रिपल टॉप एंड बॉटम

Swing Trading Kya Hai? Swing trading से पैसे कमाने की आसान स्ट्रैटेजी।

स्विंग ट्रेडिंग क्या है इस post कि सहायता से हम ऐसी Trading Strategy (Swing Trading Kya Hai) को जानने वाले हैं, जिससे एक आम आदमी ,एक Common man दिन के 15 से 20 मिनट काम करके स्टॉक मार्केट से 5 से 10 दिनों में एक अच्छा खासा इनकम प्राप्त कर सकता है।

तो चलिए जानते हैं कि Swing Trading Kya Hai?

Table of Contents

स्विंग ट्रेडिंग क्या है? Swing Trading Kya Hai? What Is Swing Trading?

स्टॉक मार्केट के खुलते ही जब किसी कंपनी के शेयर को खरीद कर कुछ हफ्तों या कुछ दिनों के लिए अपने डिमैट या ट्रेडिंग अकाउंट पर रखते हैं तथा प्रॉफिट प्राप्त होने पर उसे बेच देते हैं स्विंग ट्रेडिंग कहलाता है।

स्टॉक मार्केट में 5 से 10 दिन की ट्रेडिंग को स्विंग ट्रेडिंग कहते है।

SWING TRADING KYA HAI

स्विंग ट्रेडिंग कैसे करें ?

स्विंग ट्रेडिंग करने के लिए आपको ट्रेडिंग अकाउंट खोलने की आवश्यकता होती है।

ट्रेडिंग अकाउंट खोलने के बाद आपको मार्केट को एनालाइज करना होगा तथा अच्छा स्टॉक चुनना होगा।

बाजार को अच्छी तरह समझने के बाद अपने कैपेसिटी के हिसाब से जोखिम लेना होता है क्योंकि कई बार स्टॉक मार्केट में सही रणनीति(Swing Trading Kya Hai) और सही स्ट्रैटेजी के बाद भी नुकसान का सामना करना पड़ सकता है।

ट्रेडिंग करने के लिए आपका रिस्क मैनेजमेंट होना बहुत ही जरूरी है।

स्विंग ट्रेडिंग के लिए स्टॉक कैसे चुने?

बाजार की दिशा,

स्विंग ट्रेडिंग (Swing Trading Kya Hai) करने के लिए कुछ ट्रेलर मार्केट के Trend को फॉलो करते हैं ।

जो कि एक अच्छी बात है तथा ट्रेंड को फॉलो करने के साथ-साथ हमें कंपनी के परफॉर्मेंस उनकी खबरों को भी अपने नजर में रखना चाहिए ताकि कुछ गलत न्यूज़ आने से अपना प्रॉफिट बुक कर सकें और अपना पोजीशन काट सकें।

तरलता या Liquidity

liquidity एक ट्रेडर के लिए एक अच्छा पैमाना हो सकता है क्योंकि जिस शेयर में अधिक खरीदी बिक्री होती है वहां positions के फसने या नुकसान का chance बहुत ही कम होता है तथा हम अपने Share को आसानी से खरीद व बेच कर मुनाफा प्राप्त कर सकते हैं ।

अन्य स्टॉक के साथ तुलना,

स्टॉक की तुलना हम जिस शेयर को खरीद रहे हैं उसके सेक्टर के अन्य स्टाक के साथ शेयर की तुलना करते हैं जिससे हमें सेक्टर के बेस्ट स्टॉक प्रात हो जाता है।

स्टॉक का ट्रेडिंग पैटर्न

कोई भी ट्रेडर किसी कंपनी के शेयर को चुनने से पहले उसके प्रीवियस ट्रेडिंग पैटर्न को देखता है
वह उसके उतार चढ़ाव को देखता है कि वह भविष्य में यह stock कैसा position बना सकता है ताकि वह एक अच्छा स्टॉक का सिलेक्शन कर सके है।और अच्छा मुनाफा बना सके।

कम बदलाव वाले स्टॉक

, ज्यादातर ट्रेडर अधिक उतार-चढ़ाव वाले या जंपी स्टाक को पसंद नहीं करते है।

क्योंकि उसमें पोजीशन बनाना थोड़ा रिस्की हो जाता है इसीलिए हमें अपने स्विंग ट्रेडिंग के लिए कम जंपी स्टॉक का सलेक्सन करना चाहिए
ताकि हम उसके चार्ट पेटर्न को समझ सके और अच्छा प्रॉफिट बना सकें।

स्विंग ट्रेडिंग स्ट्रेटजी

अगर आप एक अच्छा ट्रेडर (Swing trading kya hai)बनना चाहते हैं तो आप अपनी ट्रेडिंग जर्नी में एक स्ट्रैटेजी को अच्छी तरह से फॉलो करें ।

ताकि आप अपने निवेशित राशि पर अच्छा अच्छा खासा रिटर्न प्राप्त कर सकें ।
एक सही स्विंग ट्रेडिंग रणनीति से एक ट्रेडर 5 से 10 परसेंट रिटर्न एक स्टॉक से कुछ ही दिनों में प्राप्त कर सकता है।

देखने में ट्रिपल टॉप चार्ट पैटर्न यह बहुत छोटा मुनाफा हो सकता है लेकिन कुछ दिनों कुछ हफ्तों में इतना मुनाफा सही है।

इसी तरह बढ़ता हुआ लाभ लेने के लिये ट्रेडिंग के अन्य रूपों में 7-8 % की तुलना में स्टॉपलॉस 2-3% होना चाहिए इसका मतलब यह है कि risk riward resio 1:2 या 1:3 होना चाहिए।

स्विंग ट्रेडिंग स्ट्रेटजी निम्नलिखित है:-

चार्ट पेटर्न स्ट्रैटेजी

सपोर्ट एंड रेजिस्टेंस
हेड एंड सोल्डर पैटर्न
डबल टॉप व ट्रिपल टॉप पैटर्न
डबल बॉटम व ट्रिपल बॉटम पैटर्न
इनवर्टेड हेड एंड सोल्डर
कप एंड हैंडल
असेंडिंग ट्रेंगल व डिसेंडिंग ट्रेंगल

स्विंग ट्रेडिंग इंडिकेटर

RSI
MACD
MOVING AVERAGE
BOLINGER BAND
SUPER TRED

स्विंग ट्रेडिंग के फायदे व नुकसान

Swing Trading के फायदे

कम समय में प्रॉफिट मिल जाता है।

कम प्रॉफिट का टारगेट होने के कारण टारगेट हिट होने की संभावना बढ़ जाती है।

स्टॉक में एंट्री करने के लिए स्टॉक के गिरने का इंतजार करना नहीं पड़ता।

स्टॉक के फंडामेंटल स्ट्रांग होने के कारण नुकसान होने की संभावना कम रहती है

यह एक कम तनाव वाली strategy है।

अगर आप शेयर बाजार में नए हैं तो इसको आप ट्राई कर सकते हैं।

Swing Trading के नुकसान

छोटे अवधि में ही स्टॉक से प्रॉफिट प्राप्त कर बाहर निकल जाने के कारण बड़ा प्रॉफिट नहीं मिल पाता है।

स्टॉक से जुड़ी रोजाना अच्छी व पूरी खबर आने के कारण स्टॉक में उतार-चढ़ाव व, गैप अप और गेप डाउन का खतरा रहता है।

ट्रेडिंग करने वालों को धैर्य के साथ स्टॉक को पकड़ कर रखे रहने में परेशानी का सामना करना पड़ता है।

आज हमने क्या सीखा ?
आज हमने सीखा कि Swing Trading Kya Hota Hai. और हम इसे कहां से और कैसे कर सकते हैं। स्विंग ट्रेडिंग करने के क्या फायदे और क्या नुकसान होते हैं।

मैं आशा करता हूं की आपको यह पोस्ट Swing Trading Kya Hota Hai पढ़कर Swing Trading से जुड़े सारे सवालों के जवाब मिल गए होंगे और मैंने पूरी कोशिश की है कि आपके मन में Swing trading से लेकर जो सवाल है वो सब इस पोस्ट के माध्यम से आप तक पहुँचा सकूँ।

यदि आपके मन में कुछ सवाल है तो आप कमेंट बॉक्स में अपने सवाल पूछ सकते है मैं आपके सवालों के जवाब देने की पूरी कोशिश करूंगा और इस पोस्ट को जितना हो सके उतना शेयर करें ताकि सभी लोगों को स्टॉक मार्केट,व ट्रेडिंग और उससे जुड़ी सभी जानकारियां सभी तक पहुंचते रहें और सभी आप अपना प्यार ऐसे ही बनाए रखें।

ए. के. प्रभाकर: टॉप- 5 टेक पिक्स

ए. के. प्रभाकर: टॉप- 5 टेक पिक्स

ए. के. प्रभाकर: टॉप- 5 टेक पिक्स

जीएसएफसी
पिछला बंद स्तर: 371
लक्ष्य मूल्य: 401
स्टॉप लॉस: 351
जीएसएफसी के शेयरों में मार्च 2009 से तेजी का रुझान है। इसमें वीकली राइजिंग चैनल में कारोबार हो रहा है। कंपनी के शेयर फिलहाल 347 रुपए के 100 डीएमए और 355 रुपए के 20 डीएमए से ऊपर चल रहे हैं। शेयरों में लंबे समय ट्रिपल टॉप चार्ट पैटर्न तक कंसॉलिडेशन होने के बाद 'त्रिकोण' पैटर्न से ब्रेकआउट हुआ है।

टिनप्लेट
पिछला बंद स्तर: 71
लक्ष्य मूल्य: 79
स्टॉप लॉस: 67
टिनप्लेट के शेयरों में पोल और फ्लैग का पैटर्न बन रहा है। कंपनी के शेयरों में 73 रुपए के 200 डीएमए के आसपास और 68 रुपए के 100 डीएमए से ऊपर कारोबार हो रहा है। शेयरों में लंबे कंसॉलिडेशन के बाद तेजी का माहौल बना है। ट्रिपल टॉप चार्ट पैटर्न शेयरों ने साप्ताहिक चार्ट पर फालिंग ट्रेंडलाइन को तोड़ दिया है।

हिंदुस्तान जिंक
पिछला बंद स्तर: 143
लक्ष्य मूल्य: 152
स्टॉप लॉस: 137
हिंदुस्तान जिंक के शेयरों ने सीमित दायरे में रहते हुए ट्रिपल टॉप के पैटर्न से ब्रेकआउट दिया और अब तक के उच्चतम स्तर को छुआ है। कंपनी के शेयरों में सभी मूविंग एवरेज से ऊपर कारोबार हो रहा है। शेयरों में हायर हाई और हायर लो बना है। यह शेयरों में तेजी का नियमित रुझान बनने की निशानी है।

ओरिएंटल बैंक
सलाह: बेचें
पिछला बंद स्तर: 375
लक्ष्य मूल्य: 354
स्टॉप लॉस: 389
बैंक के शेयर 303 रुपए के निचले स्तर से 405 रुपए तक गए हैं। इस बढ़त के हिसाब से रिट्रेसमेंट लेवल 354 रुपए होता है। शेयर का प्रदर्शन बाजार से कमतर रहा है। यह 404 रुपए के 200 डीएमए से ऊपर बंद होने में नाकाम रहा है। इसमें 375 रुपए के 100 डीएमए और 20 डीएमए के आसपास कारोबार हो रहा है।

डिसक्लेमर:यहां प्रस्तुत विचार ब्रोकरेज कंपनियों, एनालिस्टों और फंड मैनेजरों के निजी विचार हैं। निवेशकों को सलाह दी जाती है कि किसी सलाह पर अमल करने से पहले वह पेशेवर निवेश सलाहकार से संपर्क करें। यहां पेश विचारों की जिम्मेदारी ईटी/एनबीटी साइट की नहीं होगी।

आज के दिन शेयर्स की खरीददारी/बिक्री पर एक्सपर्ट्स की सलाह के लिए यहां क्लिक करें।

इस स्टॉक से निवेशक हुए मालामाल! एक साल में दिया 240% का रिटर्न, एक्सपर्ट दे रहे खरीदने की सलाह

पिछले एक साल में कई शेयर्स ऐसे हैं जिसमें पैसे लगाकर निवेशक मालामाल हुए हैं. कुछ शेयर ने तो डबल से भी ज्यादा रिटर्न दिया है.

पिछले एक साल में कई शेयर्स ऐसे हैं जिसमें पैसे लगाकर निवेशक मालामाल हुए हैं. कुछ शेयर ने तो डबल से भी ज्यादा रिटर्न दिया है.

Multibagger stocks 2021: पिछले एक साल में कई शेयर्स ऐसे हैं जिसमें पैसे लगाकर निवेशक मालामाल हुए हैं. कुछ शेयर ने तो डबल से भी ज्यादा रिटर्न दिया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated : July 29, 2021, 12:40 IST

नई दिल्ली. Multibagger stocks 2021- शेयर बाजार (Stock Market) निवेशकों को खूब भा रहा है. पिछले एक साल में कई शेयर्स ऐसे हैं जिसमें पैसे लगाकर निवेशक मालामाल हुए हैं. कुछ शेयर ने तो डबल से भी ज्यादा रिटर्न दिया है. निवेशक आशीष कचोलिया (Ashish Kacholia ) के पोर्टफोलियो में शामिल बिड़लासॉफ्ट (Birlasoft) ने भी शानदार रिटर्न दिया है. बता दें कि हाल ही में आशीष कचोलिया ने इसे अपने पोर्टफोलियो में शामिल किया है. इसके बाद से निवेशकों की रूचि इस शेयर में बढ़ी है.

बिड़लासॉफ्ट के शेयर की कीमत ने पिछले 6 महीनों में 60 फीसदी भाग है, जबकि पिछले एक साल में इस सॉफ्टवेयर कंपनी के शेयर ने अपने शेयरधारकों को 242 फीसदी से ज्यादा रिटर्न दिया है. ऐसा लगता है कि कचोलिया ने शेयर बाजार के विशेषज्ञों को भी हैरान कर दिया है क्योंकि अब मार्केट विशेषज्ञों ने आशीष कचोलिया के पोर्टफोलियो स्टॉक को खरीदारी की सलाह दे रहे हैं.

Birlasoft शेयर प्राइस आउटलुक
मार्केट एक्सपर्ट के मुताबिक, बिरलासॉफ्ट लिमिटेड (Birlasoft Ltd) ने सभी सेवा लाइनों और उद्योग क्षेत्रों में व्यापक तौर पर विकास किया है. कंपनी ने Q1FY22 के दौरान कुल संख्या के अच्छे सेट की सूचना दी. कंपनी का लक्ष्य अगले 4 वर्षों में राजस्व में $1 बिलियन हासिल करना है. बिड़लासॉफ्ट ने वित्त वर्ष में अपने वार्षिकी रेवेन्यू में 60 प्रतिशत से 70 प्रतिशत तक सुधार किया है. कंपनी आगे ग्रोथ करेगी.

Birlasoft शेयर प्राइस टारगेट
विशेषज्ञों ने बिरलासॉफ्ट के शेयरों के संबंध में निवेश रणनीति पर कहते हैं, बिड़लासॉफ्ट के शेयर चार्ट पैटर्न पर सकारात्मक दिख रहे हैं. एक महीने में इसका शेयर प्राइस 460 रुपये तक पहुंच सकता है. इसका अलग लक्ष्य ₹510 भी हो सकता है. बता दें कि हाल ही में समाप्त जून 2021 तिमाही के लिए बिड़लासॉफ्ट के शेयरधारिता पैटर्न के अनुसार, आशीष कचोलिया के पास कंपनी के 32.50 लाख शेयर हैं, जो कंपनी के शुद्ध शेयरों का 1.17 प्रतिशत है.

(डिस्क्लेमर: मार्केट इंवेस्टमेंट बाजार रिस्क जोखिमों के अधीन है. निवेशक पैसा लगाने से पहले एक्सपर्ट से सलाह करें. News18.com की तरफ से किसी को भी पैसा लगाने की सलाह नहीं दी जाती है.)

ब्रेकिंग न्यूज़ हिंदी में सबसे पहले पढ़ें News18 हिंदी| आज की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट, पढ़ें सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट News18 हिंदी|

एंडोमेट्रियम वॉल की थिकनेस बताती है यूटेराइन कैंसर का राज, शोध में हुआ खुलासा Lucknow News

एंडोमेट्रियम वॉल की थिकनेस बताती है यूटेराइन कैंसर का राज, शोध में हुआ खुलासा Lucknow News

लखनऊ [राफिया नाज]। एंडोमेट्रियम यानि गर्भाशय के अंदर की लेयर, गर्भधारण से लेकर पीरयड में महत्‍वपूर्ण भूमिका निभाती है। पीरयड में होने वाले दर्द में भी इसकी मैम्‍ब्रेन में कुछ बदलाव आ जाते हैं। यही नहीं एंडोमेट्रियम वॉल की थिकनेस से महिलाओं में होने वाले एंडोमेट्रियल कैंसर या यूट्रस और ओवेरियन कैंसर की संभावना के बारे में भी बताती है। क्‍वीनमेरी अस्‍पताल की प्रोफेसर डॉ रेखा सचान ने वर्ष 2018 में 40 से 50 वर्ष की आयु में होने वाले इररेगुलर पीरयड वाली महिलाओं को लेकर शोध किया। जिसमें एक चौंकाने वाला तथ्‍य निकलकर सामने आया कि एंडोमेट्रियम वॉल की थिकनेस यूट्रस में किसी तरह ट्रिपल टॉप चार्ट पैटर्न के कैंसर की संभावना के बारे में भी संकेत करते हैं। ये रिसर्च जनरल ऑफ करेंट रिसर्च साइंस मेडिसिन 2019 में छपा है।

प्रीमीनोपॉजल स्‍टेज में होती है दिक्‍कत
प्रो सचान ने बताया ट्रिपल टॉप चार्ट पैटर्न कि महिलाओं में 40 से 50 वर्ष की आयु प्री मीनोपॉजल स्‍टेज कहलाती है। अक्‍सर इस स्‍टेज में महिलाओं को मीनोपॉज के लक्षण शुरू होने लगते हैं। जिसमें अनियमित महावारी भी एक लक्षण है। जिसकी वजह से महिलाएं अनियमित माहवारी पर ज्‍यादा ध्‍यान नहीं देती हैं जिसके गंभीर परिणाम भी हो सकते हैं। महिलाओं को एंडोमेर्टियम कैंसर, एंडोमेट्रियम हाइपर प्‍लेजिया फायब्राइड यूट्रस भी हो सकता है। जिसकी वजह से महिलाओं की जान भी जा सकती है।

120 महिलाओं पर किया गया शोध
इररेगुलर ब्‍लीडिंग से पीडि़त 40 से 50 वर्ष के बीच की 120 महिलाओं पर यह शोध किया गया। एंडोमेट्रियम वॉल की थिकनेस को देखने के लिए महिलाओं का टीवीएस (ट्रांस वेजाइनल सोनोग्राफी) कराई गई। वहीं एंडोमेट्रियम के टुकड़े की बायोप्‍सी भी कराई गई। जिससे कैंसर के खतरे को भी देखा जा सके।

75 फीसद में निकली ऑव्‍यूलेटरी डिस्‍आर्डर
120 महिलाओं में से 75 फीसद में अंडाशय में गड़बड़ी निकली। जिसे ऑव्‍यूलेट्री डिस्‍आर्डर कहते हैं। नौ महिलाओं में कॉम्‍प्‍लेक्‍स एंडोमेट्रियल हाइपरप्‍लेजिया विद एटीपिया निकला जो आगे जाकर कैंसर बन सकता है। वहीं तीन महिलाओं में एंडोमेट्रियल हाइपरप्‍लेजिया विदआउट एटीपिया निकला यानि इन महिलाओं में एंडोमेट्रियम कैंसर का खतरा कॉम्‍प्‍लेक्‍स के मुकाबले कम था।

एंडोमेट्रियम वॉल की थिकनेस का कैंसर से संबंध
जिन नौ महिलाओं में एंडोमेट्रियम वॉल की थिकनेस 20 मिमी से ज्‍यादा थी। उन महिलाओं की हिस्‍टोपैथोलॉजी रिपोर्ट में एंडोमेट्रियम कैंसर यानि कॉम्‍प्‍लेक्‍स एंडोमेट्रियल हाइपरप्‍लेजिया विद एटीपिया निकला। इनमें यूटेराइन कैंसर की आशंका ज्‍यादा थी। वहीं दो महिलाएं जिनकी एंडोमेट्रियम वॉल की थिकनेस 16 से 20 मिमी के बीच थी उन्‍हें कैंसर होने का कम खतरा निकला। इन महिलाओं में सिंपल हाइपर प्लेजिया विद एटिपिया था।

11 से 15 मिमी की थिकनेस में नहीं होता है खतरा
प्रो सचान ने बताया कि रिसर्च में परिणाम निकला कि 11 से 15 मिमी तक एंडोमेट्रियम की थिकनेस में महिलाओं को किसी तरह की हिस्‍टोपैथोलॉजी नहीं होती है। उन्‍हें कैंसर का खतरा नहीं रहता है। 16 मिमी से ज्‍यादा थिकनेस होने पर आगे चलकर महिलाएं यूटेराइन कैंसर की आशंका हो सकती है।

इन्‍हें होता है हाईरिस्‍क
जो महिलाएं मोटी होती है, जिनके बच्‍चे नहीं होते हैं, डायबिटिक, गलत डाइट हैबिट जंक फूड आदि , जिनकी फैमिली हिस्‍ट्री होती है। उन्‍हें एंडोमेट्रियल कैंसर का खतरा ज्‍यादा होता है।

क्‍या है इलाज
40 या 50 वर्ष की आयु में अनियमित माहवारी होतो स्‍त्री एवं प्रसूति रोग विशेषज्ञ से संपर्क करना चाहिए। ऐसी महिलाओं की टीवीएस जांच कराई जाती है जिसमें एंडोमेट्रियम वॉल की थिकनेस पता चलती है। अगर थिकनेस 16 मिमी से ज्‍यादा है तो ऐसी महिलाओं को कैंसर का रिस्‍क हो सकता है। इन महिलाओं को हर छह माह में जांच कराई जाती है। 20 मिमी से ज्‍यादा थिकनेस होने पर यूटेराइन कैंसर की संभावना और ज्‍यादा हो जाती है। ऐसे में सर्जिकल ट्रीटमेंट किया जाता है।

चार्ट पैटर्न का विश्लेषण: ट्रिपल टॉप एंड बॉटम

चार्ट पैटर्न का विश्लेषण: ट्रिपल टॉप एंड बॉटम

चार्ट पैटर्न का विश्लेषण: ट्रिपल टॉप एंड बॉटम

ट्रिपल टॉप और ट्रिपल डाउन रिवर्सल पैटर्न होते हैं, जो कि प्रचलित प्रवृत्ति की दिशा में समर्थन या प्रतिरोध के महत्वपूर्ण स्तर से पहले स्थानांतरित करने के लिए सुरक्षा प्रयास तैयार किए जाते हैं।

यह चार्ट पैटर्न एक निश्चित दिशा में एक सुरक्षा को स्थानांतरित करने के लिए बाजार के प्रयास का प्रतिनिधित्व करता है। तीन असफल प्रयासों के बाद, खरीदार (शीर्ष के मामले में) या विक्रेताओं (नीचे के मामले में) हार जाते हैं, और बाजार में विरोध समूह सुरक्षा की पकड़ लेता है, इसे नीचे (विक्रेताओं) या ऊपर की ओर भेजता है (खरीदारों)।

यह बियरिश रिवर्सल पैटर्न बनता है, जब कोई सुरक्षा जो ऊपर की तरफ फैल रही है, तो उस तरह के प्रतिरोध का एक समान स्तर तीन बार बिना तोड़ने के तीन बार परीक्षण करता है हर बार जब सुरक्षा प्रतिरोध स्तर का परीक्षण करता है, तो यह समान समर्थन के क्षेत्र में गिरता है। समर्थन स्तर पर तीसरे गिरावट के बाद, पैटर्न पूरा हो जाता है जब सुरक्षा समर्थन से गिरती है; तब कीमत नीचे की प्रवृत्ति में बढ़ने की उम्मीद है

यह ऊपर और नीचे के आंदोलन को तीसरे बार दोहराया जाता है; लेकिन इस बार खरीदार, तीन बार असफल रहने के बाद, सुरक्षा को छोड़ देते हैं, और विक्रेताओं के पास ले जाता है समर्थन के स्तर के माध्यम से गिरने पर, सुरक्षा की उम्मीद है नीचे की ओर प्रवृत्त।

शुरुआती चरणों में यह पैटर्न मुश्किल हो सकता है क्योंकि यह शुरुआत में डबल टॉप पैटर्न की तरह दिखता है, जिसे पिछले अनुभाग में चर्चा की गई थी। सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि सुरक्षा में प्रवेश करने से पहले प्रतिरोध के स्तर से पीछे जाने के लिए कीमत का इंतजार करना पड़ता है, क्योंकि सुरक्षा वास्तव में अंतराल की सीमा समाप्त हो ट्रिपल टॉप चार्ट पैटर्न सकती है, जहां यह कुछ समय के लिए दो स्तरों के बीच व्यापार करता है।

ट्रिपल टॉप फॉर्मेशन में, ऊपरी छोर पर प्रतिरोध के प्रत्येक परीक्षण को प्रत्येक लगातार शिखर पर गिरावट की मात्रा के साथ चिह्नित किया जाना चाहिए। और फिर, जब समर्थन स्तर से नीचे की कीमत टूट जाती है, तो इसे उच्च मात्रा के साथ होना चाहिए।

सिग्नल बन जाने के बाद, मूल्य का उद्देश्य चार्ट पैटर्न के आकार या प्रतिरोध और समर्थन के स्तर के बीच मूल्य दूरी पर आधारित होता है। यह तब ब्रेकआउट पॉइंट से काट लिया जाता है

यह तेजी से उलट पैटर्न में ट्रिपल टॉप के समान सभी गुण हैं, लेकिन नीचे की प्रवृत्ति का उलट होने का संकेत मिलता है।ट्रिपल-नीचे पैटर्न एक सुरक्षा को दिखाता है जो एक डाउनट्रेन्ड में कारोबार कर रहा है और समर्थन के स्तर के माध्यम से तीन बार गिरने की कोशिश करता है, प्रत्येक समय प्रतिरोध के स्तर पर वापस जाता है। मूल्य को कम करने के तीसरे प्रयास के बाद, पैटर्न पूरी तरह से पूरा हो जाता है जब कीमत प्रतिरोध स्तर से ऊपर होती है और एक ऊर्ध्वल प्रवृत्ति में कारोबार शुरू होता है।

चित्रा 2: ट्रिपल डाउन रिवर्सल यह पैटर्न एक डाउनथ्रेंड में एक नया कम सेट करके शुरू होता है, जिसके बाद रैली को उच्च स्तर पर रखा जाता है यह ट्रिपल-नीचे पैटर्न के लिए व्यापार की सीमा निर्धारित करता है। उच्च को मारने के बाद, कीमत फिर से बिक्री के दबाव के तहत आती है, जो इसे पिछली कम पर वापस भेजती है खरीदार फिर ट्रिपल टॉप चार्ट पैटर्न से इस समर्थन स्तर पर सुरक्षा में वापस आ जाते हैं, आमतौर पर पिछली ऊंची ओर कीमत वापस भेजते हैं।

इस पद्धति में, मात्रा में ट्रिपल टॉप के समान एक भूमिका निभाई जाती है, प्रत्येक गर्त पर गिरावट, क्योंकि यह समर्थन स्तर की जांच करता है, जो बिक्री के दबाव को कम करने का संकेत है। फिर, पैटर्न के पूरा होने पर प्रतिरोध स्तर के ऊपर एक ब्रेकआउट पर वॉल्यूम उच्च होना चाहिए।

कीमत के उद्देश्य की शुरुआत मूल्य के ब्रेकआउट में जोड़ा चार्ट पैटर्न की दूरी के रूप में भी की जाएगी। तो यदि चार्ट ट्रिपल टॉप चार्ट पैटर्न पैटर्न $ 50 और $ 30 के बीच 50 डॉलर के मूल्य ब्रेकआउट पर बन गया है तो कीमत का उद्देश्य $ 70 ($ 50 + $ 20) है

ट्रिपल टॉप और ट्रिपल टॉप चार्ट पैटर्न बॉटम के पीछे का अर्थ

इन दोनों संरचनाओं का महत्व यह है कि एक स्थापित प्रवृत्ति ने समर्थन / प्रतिरोध का एक बड़ा हिस्सा मार दिया है, जो प्रवृत्ति की जारी रखने की क्षमता को रोक देता है यह एक संकेत है कि प्रवृत्ति का समर्थन करने वाले खरीद या बिक्री के दबाव को कमजोर करना शुरू हो रहा है। यह भी एक संकेत है कि विपरीत दबाव शक्ति प्राप्त कर रहा है

चार्ट पैटर्न यह संकेत दे रहा है कि सुरक्षा और आपूर्ति और खरीदारों और विक्रेताओं के बीच संतुलन की मांग में बदलाव है। जब ट्रिपल टॉप में रिवर्सल सिग्नल का निर्माण होता है, तो सुरक्षा से नीचे की ओर बढ़ने वाले विक्रेताओं को सुरक्षा ऊपर की ओर बढ़ते हुए खरीदारों की ओर से बदलाव होता है।

रेटिंग: 4.39
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 336
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *